Bond क्या है Bond Meaning In Hindi कैसे करें बांड निवेश ?

Sharing is caring!

 तो दोस्तों आज हम लोग जानेंगे Bond के बारे में की Bond क्या है, bond meaning in hindi bond meaning, bonds type और bond government के बारे में जैसा की हम सभी जानते हैं की आजकल महंगाई कितनी बढ़ चुकी है और जिस दर के साथ यह तेजाई से बढ़ती जा रही है, आने वाले समय मे यह और कितनी तेज़ बढ़ जायेगी।

 बांड में निवेश करने से Fixed Deposite से ज्यादा रिटर्न देती है। लेकिन लोग Bond में निबेश क्यों नहीं करते है। इसका मूल कारण है की लोगो को ये नहीं पता है की बांड में निवेश क्यों किया जाता है क्या फयदा होता है। बांड में किये तो कितना रिटर्न मिलेगा तो आइये जान लेते है पूरी कुंडली क्या है।

Also Read:- Sail Share Price Target 2022, 2023, 2025, 2030 जबरदस्त शेयर

बॉन्ड का अर्थ Bond Meaning In Hindi

संस्थाएं धन का उपयोग लंबी अवधि के निवेश की लागत को पूरा करने या मौजूदा व्यय के वित्तपोषण के लिए कर सकती हैं। जबकि बॉन्ड और शेयर दोनों पूंजी बाजार उपकरण हैं, शेयरों में निवेश कंपनी का आंशिक-स्वामित्व प्रदान करता है। लेकिन बॉन्ड कंपनी में एक क्रेडिट हिस्सेदारी के साथ आते हैं। दूसरे शब्दों में, कंपनी उधारकर्ता बन जाती है

बॉन्ड का अर्थ ( Bond meaning in hindi )को समझने के लिए, आपको यह भी ध्यान रखना चाहिए कि उधार लेने वाली इकाई आपको पूर्व निर्धारित परिपक्वता तिथि पर मूलधन का पुनर्भुगतान करती है। साथ ही, समझौते की शर्तों के अनुसार नियमित अंतराल पर मुख्य राशि पर ब्याज भुगतान – जिसे कूपन भुगतान कहा जाता है कूपन का भुगतान मासिक, अर्धवार्षिक, या वार्षिक आधार पर किया जा सकता है।

Also Read:- Urja Global Share Price Target 2030 2022 2025 जबरदस्त शेयर

Bond क्या है Bond meaning in hindi

किसी भी कंपनी को बड़ा करने के लिए पैसे की जरूरत होती है. इसके लिए कंपनी 3 तरीके से पैसा जुटा सकती है-

  1. शेयर मार्केट से शेयर बेच के (Share Issue Share market)
  2. बैंक लोन (Bank Loan)
  3. बांड (Bond)

कंपनी शेयर मार्केट से पैसा जुटाती है तो उनके हिस्सेदारी कम होते है कंपनी कम नहीं करना चाहती। अगर बैंक के पास जाता है तो वहा पर इंटरेस्ट रेट ज्यादा देना पड़ता हैं। कंपनी इसलिए लोगों से पैसा जुटाने के लिए बैंक से कम Interest Rate पर Bond issue करते हैं। बांड मतलब कंपनी आपसे पैसा उधार पे ले रही हैं।

आपको कंपनी हर साल या महीने आपने जो Bond खरीदा उसके Face Value के ऊपर तय किया हुआ ब्याज देगा। जिस तरह शेयर मार्केट में शेयर प्राइस ऊपर नीचे होता है. ठीक वही तरह Bond का प्राइस भी ऊपर नीचे होते रहता हैं। लेकिन उसका Interest Rate एक ही रहता हैं। जिसकी बजह से आपको पहले जो बांड issue हुआ था Face Value के ऊपर ही आपको ब्याज मिलेगा।

Also Read:- Shree Renuka Sugars Share Price Target 2022, 2023, 2025, 2030 जबरदस्त रिटर्न

Bond में होल्डिंग समय क्या है

Bond में कंपनी आपलोगों से पैसा उधार ले रहे हैं। बदले में आपको ब्याज दे रही है. तो कितने साल के लिए ले रही है कंपनी की बांड में Redemption year लिखा हुआ रहता हैं। उसके बाद ही आपको मूल राशि मिलेगा. जब चाहे आप Secondary मार्केट में खरीदार मिला तो बेच सकते है।

bond meaning in hindi
ond meaning in hindi

बांड के प्रकार (Types of Bond)

बांड आठ प्रकार के होते है –

सरकारी प्रतिभूतियां:

ये बॉन्ड राज्य या केंद्र सरकार द्वारा जारी किए जाते हैं। यह सबसे सुरक्षित निवेश साधनों में से एक है क्योंकि क्रेडिट धोखाधड़ी के खतरे को समाप्त कर दिया जाता है।

सरकारी बॉन्ड मे निवेश करने के तीन तरीके है

  1. GILT MUTUAL FUND
  2. RBI RETAIL DIRECT SCHEME
  3. DIRECT INVESTMENT

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड:

ये सरकार की ओर से भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी की गई सरकारी प्रतिभूतियां हैं। ये भौतिक सोने के लिए एक विकल्प हैं, और सोने के ग्राम में प्रदर्शित किए जाते हैं।

पूंजी लाभ बॉन्ड:

ये भी सरकार द्वारा जारी किए जाते हैं। यहां, आप अपने पूंजी लाभ को विशिष्ट बॉन्ड में स्थानांतरित कर सकते हैं। ये बॉन्ड पूंजी लाभ कर से छूट प्रदान करते हैं, बशर्ते आपने पूंजी लाभ प्राप्त होने की तारीख से छह महीने के भीतर उन में निवेश किया हो।

कॉर्पोरेट बॉन्ड:

ये कंपनियों द्वारा जारी किए जाते हैं और ब्याज की अपेक्षाकृत उच्च दर प्रदान करते हैं। लेकिन इनमें क्रेडिट जोखिम शामिल होता है।

परिवर्तनीय बॉन्ड:

पूर्व निर्धारित नियमों और शर्तों के अनुसार, इन बांडों को स्टॉक में परिवर्तित किया जा सकता है।

बॉन्ड क्या है?इसके बारे में अधिक जानने के लिए, यहां पर रिटर्न के आधार पर बॉन्ड का वर्गीकरण दिया गया है:

निश्चित ब्याज बॉन्ड:

इनमें बॉन्ड के कार्यकाल में पूर्व निर्धारित ब्याज दर है। इन बॉन्ड का लाभ यह है कि वे एक निश्चित ब्याज प्रदान करते हैं, चाहे बाजार की स्थितियों कुछ भी क्यों न हो।

फ्लोटिंग ब्याज बॉन्ड:

इन बांडों में ब्याज की लचीली दरें होती हैं, जो बदले में, बाजार चर की एक विस्तृत श्रृंखला पर आकस्मिक होती हैं।

मुद्रास्फीति से जुड़े बॉन्ड:

ये बॉन्ड कूपन दर और अंकित मूल्य पर मुद्रास्फीति के प्रभाव से निवेशक को बचाने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। हालांकि, निश्चित ब्याज दर बॉन्ड की तुलना में इनमें कूपन दर कम है।

Also Read:- Federal Bank Share Price Target 2022, 2023, 2025, 2030 भविष्य राकेश झुनझुनवाला 

Bond में क्या Disadvantage है

  1. भुगतान में चूक की जोखिम (Default Risk):- Bond में कभी कभी आपको मूलधन भी बापस नहीं मिल सकता हैं। ज्यादातर प्राइवेट बांड में ही ऐसा होता है। कंपनी डूब जाती हैं और आपका मुलराशी भी नहीं मिलता।
  2. लिक्विडिटी नहीं होना (Liquidity Risk):- आप चाहो भी बेच नहीं सकते मेने पहले ही कहा था लोग Bond में ज्यादा इन्वेस्ट नहीं करते। इसलिए आप जब बेचने जाओगे आपको खरीदार बहुत कम मिलेगा। आपको RedumtionYear तक रुकना पड़ सकता हैं। लेकिन आजकल लोग थोड़ा ज्यादा Bond में इन्वेस्ट करते हैं।
  3. ब्याज दर रिस्क (Interest rate Risk):- आपने जो भी बांड खरीदा है। उसके अगले साल उससे ज्यादा का Interest rate पर आता है तो आपको इससे ब्याज दर पर प्रभाव पड़ता हैं।

Bond मे Advantage है

  • स्थिरता प्रदान करता है (provides stability):- जिस तरह से शेयर मार्केट में बहुत ऊपर नीचे होते हैं। लेकिन Bond में बहुत ही कम ऊपर या नीचे आते है आपको स्थिरता प्रदान करता है।
  • फिक्स्ड रिटर्न (Fixed return):- Bond एक तरह का उधार है जिसकी बजह से आपको हर साल एक Fixed अमाउंट का ब्याजमिलता हैं।

Also Read:- JP Power Share Price Target 2022 2023 2025 2030 सम्पूर्ण जानकारी

क्यों करें बॉन्डस में निवेश? (Why to invest in bonds?) 

  1. एक अच्छी खासी वजह जिसके चलते लोग बोंड्स मे  इंवेस्ट करना बेहतर और सेफ मानते हैं, है- बोंड्स पर बयाज दर अधिक होता है जिससे की बॉन्ड की अवधि समाप्त होने पर आपको बाकी संस्था या बैंक के मुकाबले अधिक रकम वापस मिलती है। 
  2. बॉन्ड मे निवेश करने से आपका प्रिंसिपल अमाउंट सेफ रहता है। आपको ब्याज के साथ साथ ही अपना सारा पैसा पूरा वापिस हो जाता है जो की कई बार शेयर्स मे इंवेस्ट करने से डूबने का डर रहता है। 
  3. आजकल हर भारतीय की शिकायत है यह भारी टैक्स जिससे की सब राहत चाहते हैं। बॉन्ड मे इंवेस्ट करने का एक फ़ायदा ये भी है की इसमे निवेश करने पर आपको सबसे कम टैक्स देना होता है जो की काफी लोगो को इसमे इंवेस्ट करने के लिए मजबूर कर देता है। 
  4. एक बार बॉन्ड मे इंवेस्ट करने के बाद आपको रिस्क लेने की कोई जरूरत नही। बॉन्ड एक निश्चित रूप से कभी ना डूबने वाली आपकी कमाई है जिसके लिए आपको चिंता नही लेनी होती आपको पैसा मिलट ही मिलता है। 

कौनसे बॉन्ड मे करे निवेश? (Which bond should we invest in?) 

बॉन्डस मे निवेश करने के दो मुख्य तरीके हैं। या तो आप सरकारी बॉन्डस मे निवेश करें या फिर कंपनी के बोंड्स मे। सरकार बोंड्स इसलिए जारी करती है

ताकी वो आपके द्वारा निवेश किये गए इस पैसे को आम जनता की भलाई मे इस्तेमाल होने वाले फंड को generate करने के लिए इस्तेमाल कर सके।

वही दूसरी ओर कंपनी बोंड्स जारी करती है अपनी कैपिटल पूरी करने के लिए। अधिकतर लोग सरकारी बोंड्स मे पैसा निवेश करना अधित उचित मानते हैं क्योंकि यहाँ हमारे पैसे डूबने की कोई गुंजाइश नही होती है।

वही दूसरी ओर कंपनी के शेयर्स लेने मे कोई बुराई नही है लेकिन इसपर विश्वास आँख बंद करके नही किया जा सकता। कंपनी के बोंड्स मे निवेश करने के लिए आपको पहले कंपनी को अच्छे से जानना होगा जिसके लिए आप कंपनी का पोर्टफोलियो देख सकते हैं। 

Also Read:- IRFC Share Price Target 2022, 2023, 2025, 2030 पॉवरफुल रिटर्न

Bond कैसे खरीदे और बेचे

बांड खरीद बेच करने के लिए बहुत सारे माय्ध्यम है Thefixedincome। ये वेबसाइट SEBI से रेगुलेटेड है जोकि Bond खरीदने में मदत करते हैं। आप जो भी बांड खरीदेंगे आपके Demat Account में ही स्टोर होंगे। आपको बस Register करने के समय DP id देना हैं। कल को यदि ये वेबसाइट है या नहीं कोई फर्क नहीं पड़ता क्युकी आपका Bond Demat Account पड़ा रहेगा। आप यहाँ से खरीद भी सकते हो और बेच भी सकते हैं।

Also Read:- Yes Bank Share Price Target 2022, 2023, 2024, 2025, 2026, 2030 जबरदस्त शेयर

क्या Bond में निवेश करना सही है

अगर आप Bank Fixed Deposit से खुश नहीं है और आपको रेगुलर कमाई चाहिए। शेयर मार्केट के volatility से दूर रहना चाहते हो तो आपको Bond में निवेश करना चाहिए।

Also Read:- Trident Share Price Target 2022, 2023, 2025, 2030 जबरदस्त कमाई

Bond Meaning In Hindi

गहरा संबंध

Bond Meaning in hindi

मेरी राय :-

आप यदि नए हो इन्वेस्टिंग में तो आपको Bond में invest करना सही नहीं रहेगा। आपके लिए है शेयर मार्केट, आप पहले सीखिए उसके बाद ही निबेश की छोच सकते हैं। बांड में एसी लोगो को ही ज्यादा इन्वेस्ट करना चाहिए जो लोग ज्यादा रिस्क नहीं ले सकते। 

इस पोस्ट में Bond क्या है Bond meaning in hindi को पढ़के आपका मन स्पष्ट हो गया होगा। आपके मन में और कोई भी सवाल है तो कमेंट में जरुर पूछे।

FAQ Bond meaning in hindi

Bond Meaning In Hindi

गहरा संबंध

क्या Bond में निवेश करना सही है

अगर आप Bank Fixed Deposit से खुश नहीं है और आपको रेगुलर कमाई चाहिए। शेयर मार्केट के volatility से दूर रहना चाहते हो तो आपको Bond में निवेश करना चाहिए।

बांड के प्रकार (Types of Bond)

बांड आठ प्रकार के होते है

सरकारी प्रतिभूतियां:

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड:

पूंजी लाभ बॉन्ड:

कॉर्पोरेट बॉन्ड:

परिवर्तनीय बॉन्ड:

निश्चित ब्याज बॉन्ड:

फ्लोटिंग ब्याज बॉन्ड:

मुद्रास्फीति से जुड़े बॉन्ड:

Bond क्या है Bond meaning in hindi

किसी भी कंपनी को बड़ा करने के लिए पैसे की जरूरत होती है. इसके लिए कंपनी 3 तरीके से पैसा जुटा सकती है-

  1. शेयर मार्केट से शेयर बेच के (Share Issue Share market)
  2. बैंक लोन (Bank Loan)
  3. बांड (Bond)

❣️ में मोहित शर्मा जो की Thetechmohit ब्लॉग का फाउंडर हु। और Thetechmohit Blog पर आपका स्वागत है आप हमारे ब्लॉग के माध्यम से Share Market सीख सकते है इसी के साथ साथ आप हमारे Blog के माध्यम से Technology, Make Money,Online, Android, Windows,Tech Tips, इत्यादि की जानकारी प्राप्त कर सकते है। ❣️

4 thoughts on “Bond क्या है Bond Meaning In Hindi कैसे करें बांड निवेश ?”

Comments are closed.